Breaking News
Home / मनोरंजन / सौतेली मां-बहनों से नहीं है मतलब : अर्जुन कपूर
arjun_kapoor_1495264195

सौतेली मां-बहनों से नहीं है मतलब : अर्जुन कपूर

Jagran News Express. बॉलीवुड एक्टर अर्जुन कपूर कभी भी अपनी सौतेली मां श्रीदेवी और सौतेली बहनों खुशी और जाह्नवी के साथ नजर नहीं आते। अर्जुन कपूर जब 11 साल के थे तब उनके पापा बोनी कपूर ने श्रीदेवी से दूसरी शादी की थी। अर्जुन और श्रीदेवी के बीच की दूरी हमेशा सुर्खियों में रहती है।

अजुर्न ने कहा कि उन्हें अपने काम और निजी जीवन में संतुलन बनाए रखने में मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। उन्होंने कहा ,’मैंने हमेशा अपने काम को प्राथमिकता दी है। हालांकि अपने काम को प्राथमिकता देते हुए किसी रिश्ते को स्थिर बनाए रखना आसान नहीं होता। मैंने अपनी जिंदगी में अपने काम को मजबूत करने के लिए ज्यादा समय दिया है, इसलिए मैं रिश्तों को समय नहीं दे पाया। लेकिन सही समय पर कोई आएगा।’

अजुर्न ने कहा, ‘मेरी जिंदगी का एक हिस्सा दर्शकों के लिए है, और दूसरा मेरे काम के लिए। मेरे साथ रिश्ता रखने वाली लड़की को लाइमलाइट में रहना पड़ेगा, भले ही वह चाहे या नहीं। उसे मेरे पेशे का सम्मान करना होगा और समझना होगा कि वह या मैं कोई भी इससे बच नहीं सकता।’

हाल ही में अर्जुन ने फिल्म ‘हाफ गर्लफ्रेंड’ में काम किया है, जिसमें उनके साथ श्रद्धा कपूर मेन रोल में हैं। अर्जुन फिल्म के सिलसिले में मीडिया के रूबरू हो रहे हैं। अर्जुन ने फैमिली के बॉन्डिंग पर बात करते हुए कहा, वो अपनी र्स्वगवासी मां के करीब थे। उनके मरने के बाद वो अपनी बहन और दादी के काफी करीब हैं। मां की मौत के बाद अर्जुन रातों रात अपनी बहन के पैरेंट बन गए थे, जिसके लिए वह उस समय तैयार नहीं थे।

मीडिया से बातचीत के दौरान अर्जुन ने उनकी सौतेली बहनों पर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए कहा कि ना वो उन लोगों से ज्यादा मिलते हैं, और ना ही कभी साथ में टाइम स्पेंड करते हैं। वो लोग उनकी लाइफ में न के बराबर ही मायने रखते हैं।

शादी के बारे में अर्जुन का कहना है कि जैसे ही आप 32 साल की उम्र में पहुंचते हैं तो आपको लगता है कि अब अकेले चल पाना मुश्किल है। ऐसे में एक पार्टनर के साथ की जरुरत पड़ती है, मेरी लाइफ में अभी वो जगह खाली है और मैं उसे लिव इन रिलेशनशिप से भरना चाहता हूं। मैं पहले अपने पार्टनर को जान लेना चाहता हूं फिर मैं उसे जिंदगीभर का कमिटमेंट देने को तैयार हो सकता हूं।

About जागरण न्यूज एक्सप्रेस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>